Friday, March 10, 2017

भिलाई स्टील प्लांट के नए ब्लास्ट फर्नेस-8 की स्टोव हीटिंग शुरू 


भिलाई स्टील प्लांट के नए ब्लास्ट फर्नेस-8 में 7 मार्च 2017 को स्टोव लाइटिंग की गई। 
इसके साथ ही स्टोव हीटिंग प्रक्रिया का शुभारंभ होने से सेल-भिलाई इस्पात संयंत्र अपने अत्याधुनिक एवं विस्तार कार्यक्रम के अन्तर्गत संयंत्र के 7.5 मिलियन टन हॉट मेटल उत्पादन क्षमता में वृद्धि की दिशा में एक महत्वपूर्ण मील के पत्थर को पार कर लिया।
बीएसपी के सीईओ एम रवि सहित ईडी माइंस पी के सिन्हा, ईडी मटेरियल मैनेजमेेंट हृदय मोहन, ईडी वक्र्स टी बी सिंह, ईडी पीएंडए एमके बर्मन, ईडी प्रोजेक्ट कार्पोरेट आफिस एके माथुर एवं बीएसपी व परियोजनाएं विभाग के वरिष्ठ अधिकारियों, तकनीकी एवं उपकरण आपूर्तिकर्ता मेसर्स पॉल वर्थ, इटली एवं कंसोर्टियम पार्टनर, मेसर्स एलएंडटी व मेसर्स पॉलवर्थ, इण्डिया के प्रतिनिधियों की उपस्थिति में स्टोव हीटिंग की प्रक्रिया को प्रारंभ किया गया। 
भिलाई इस्पात संयंत्र का यह नया ब्लास्ट फर्नेस-8 देश के सबसे बड़े ब्लास्ट फर्नेसों में से एक है, इसकी वार्षिक हॉट मेटल उत्पादन क्षमता 2.8 मिलियन टन है। अत्याधुनिक तकनीक से सुसज्जित इस ब्लास्ट फर्नेस में प्रति दिन 8000 टन से अधिक हॉट मेटल का उत्पादन किया जा सकता है।
नये ब्लास्ट फर्नेेस में तीन हॉट ब्लास्ट स्टोव का निर्माण किया गया है जिसमें वेल्डेड स्टील शेल्स एवं रिफ्रैक्ट्री चेकर ब्रिक्स बिछाया गया है। सिरामिक बर्नर्स के डिजाइन के साथ इन्टरनल कम्बश्चन टाइप स्टोव को मशरूम डोम का आकार दिया गया है, इसकी आपूर्ति मेसर्स पॉल वर्थ द्वारा की गई है, जिसमें 1250 डिग्री सेंटीग्रेड के तापमान के हॉट ब्लास्ट सप्लाई की पर्याप्त व्यवस्था होगी। हॉट ब्लास्ट स्टोव सिस्टम में फ्यूल गैस एवं कम्बश्चन एयर, फ्यूल गैस एग्जास्ट, फ्यूल चिमनी, कोल्ड ब्लास्ट आदि के साथ वॉल्व व कंट्रोल जैसी सुविधाएँ हैं। इसके अलावा वेस्ट हीट रिकवरी सिस्टम जो ब्लास्ट फर्नेस गैस व कम्बश्चन एयर के तापमान को नियंत्रित कर ऊर्जा संरक्षण सुनिश्चित करता है, जैसी सुविधाएँ भी इस स्टोव में हैं। स्टोव से जुड़े हुए कोल्ड ब्लास्ट लाइन का प्रेशर टेस्टिंग का सफलतापूर्वक परीक्षण 6 मार्च 2017 की शाम को किया गया। नए ब्लास्ट फर्नेस के स्टोव की लाइटिंग के बाद हीटिंग प्रक्रिया शुरू होने से अब आने वाले दिनों में जल्द ही नए ब्लास्ट फर्नेस के हीटिंग प्रक्रिया को प्रारंभ किया जा सकेगा। 

No comments:

Post a Comment